10वीं-12वीं के रिजल्ट के फार्मूला:- मैट्रिक-इंटर के जिस पेपर में प्रैक्टिकल नहीं, आंतरिक मूल्यांकन से मिलेंगे 20% अंक*

10वीं-12वीं के रिजल्ट के फार्मूला:- मैट्रिक-इंटर के जिस पेपर में प्रैक्टिकल नहीं, आंतरिक मूल्यांकन से मिलेंगे 20% अंक*

रांची

आंतरिक मूल्यांकन के अंक अपलोड करने के लिए जैक बना रहा है  पोर्टल

*झारखंड एकेडमिक काउंसिल ने 10वीं-12वीं के रिजल्ट को लेकर शिक्षा विभाग को भेजा फार्मूला

झारखंड एकेडमिक काउंसिल (जैक)  द्वारा मैट्रिक और इंटर परीक्षा- 2021 के final रिजल्ट के लिए फार्मूला स्कूली शिक्षा एवं साक्षरता विभाग को शुक्रवार को भेज दिया गया है। विशेषज्ञ कमेटी के द्वारा तैयार किये गए फार्मूले में मैट्रिक के रिजल्ट का आधार 9th कक्षा की परीक्षा में मिले अंक और वहीं, इंटर के रिजल्ट का आधार 11वीं में मिले अंक होंगे। दोनो ही परीक्षाएं jac द्वारा पिछले वर्ष 2020 के जनवरी और मार्च माह में आयोजित की गई थीं।

इंटर - 70 %marks _11वीं के और 30 % प्रैक्टिकल से लिए जाएंगे इंटर के विषयों में

पोर्टल पर आंतरिक मूल्यांकन के अंक अपलोड करने का जिम्मा स्कूल का होगा


10वीं के रिजल्ट में 80% marks नौंवी से और 20 प्रतिशत marks 10वीं के प्रैक्टिकल से लिया जाएगा। जिस विषय में प्रैक्टिकल नहीं है, उसमें आंतरिक मूल्यांकन के आधार पर अंक दिए जाएंगे। इसी प्रकार इंटर में प्रैक्टिकल वाले विषयों में 70 प्रतिशत अंक 11वीं से और 30 प्रतिशत अंक प्रैक्टिकल के होंगे। बिना प्रैक्टिकल वाले विषयों में 80 % अंक 11वीं से और 20 प्रतिशत आंतरिक मूल्यांकन से मिलेंगे। आंतरिक मूल्यांकन का अंक स्कूलों से मंगाने के लिए जैक द्वारा पोर्टल बनाया जा रहा है। स्कूल JAC पोर्टल पर ही आंतरिक मूल्यांकन के अंक अपलोड कर देंगे।
80 % अंक 11वीं से और 20% अंक बिना प्रैक्टिकल वाले विषयों के आंतरिक मूल्यांकन से दिए जाएंगे

*रिजल्ट घोसित करने के लिए कार्यवाही तेज

जैक द्वारा जो फार्मूला विभाग को भेजा गया है, उसी के अनुसार रिजल्ट की कार्यवाही भी शुरू कर दी गई  है। सरकार से सहमति मिलने के साथ ही रिजल्ट तैयार करने की प्रक्रिया को गति दिए जाने की रणनीति पर काम हो रहा है।

आंतरिक मूल्यांकन में इस प्रकार मिलेंगे अंक

रिजल्ट तैयार करने के लिए आंतरिक मूल्यांकन के अंक के लिए कमेटी ने कई बिंदुओं पर अपना विचार रखा है। इनमें प्री बोर्ड परीक्षा, कुछ महीनों के लिए स्कूल खुले थे उसका अटेंडेंस, जैक द्वारा जारी मॉडल प्रश्नपत्र को हल करने और नौवीं की अद्धवार्षिक परीक्षा शामिल हैं।

*पिछले वर्ष से रिजल्ट प्रतिशत बड़ने की संभावना

मैट्रिक और इंटर में पिछले वर्ष की अपेक्षा इस वर्ष रिजल्ट का प्रतिशत बढ़ना तय है। वर्ष 2020 में कक्षा नौवीं का रिजल्ट 97 प्रतिशत व 11वीं का 95.53 प्रतिशत हुआ था। वर्ष 2021 के 10वीं और 12वीं के रिजल्ट का आधार इन्हीं दोनों के अंक होंगे। बताते चलें कि पिछले वर्ष मैट्रिक में 75.01 प्रतिशत और इंटर में 77.37 प्रतिशत छात्र पास हुए थे।

Post a Comment

0 Comments